Breaking
Wed. May 22nd, 2024

तिब्बती समाज ने उठाई पंचेन लामा की रिहाई की मांग

By admin Apr25,2024

ब्यूरो रिपोर्ट शिमला

बौद्ध धर्मगुरु पंचम लामा के जन्म दिवस के मौके पर तिब्बती समुदाय के लोगों ने राजधानी शिमला में एक प्रार्थना सभा का आयोजन किया। साथ ही शेरे पंजाब से जिला उपयुक्त कार्यालय तक एक शांति रैली निकाल तिब्बती समुदाय के लोगों ने पंचेन लामा की रिहाई को लेकर प्रार्थना की और उनके पोस्ट हवा में लहरा तिब्बती समुदाय के प्रदर्शन को देखने भारी भीड़ भी एकत्रित रही।

तिब्बती समाज के प्रतिनिधियों ने क्रमवार बताया कि आज से 28 वर्ष पूर्व पंचेन लामा को 6 वर्ष की आयु में चीनियों द्वारा नजर बंद कर दिया गया था। पंचेन लामा का पुनर्जन्म जब हुआ था तो इनको मान्यता परम पूज्य दलाई लामा द्वारा प्रदान की गई थी। इनके जन्म के बाद इनको वह उनके अभिभावकों को चीनियों द्वारा बरगलाने की बहुत कोशिश की गई लेकिन जब वह सच्चाई पर अडिग रहे तो 6 वर्ष की आयु में उनको उनके अभिभावकों सहित धोखे से अपहरण कर उन्हें नजर बंद कर दिया । आज उनको चीन द्वारा नजर बंद किए हुए 28 वर्ष हो चुके हैं । उनका कोई ऐसा पता नहीं है। वह किधर है किस हाल में है। चीन द्वारा लगातार तिब्बती समुदाय और बौद्ध धर्म में हस्तक्षेप किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तिब्बती समुदाय के विश्व भर में संगठन है जो आज पंचेन लामा की रिहाई के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि तीव्रता समुदाय आज पूरी दुनिया में यह प्रार्थना कर रहा है कि चीन को सद्बुद्धि दे और चीन पंचेंन लामा को तत्काल प्रभाव से रिहा करें । उन्होंने कहा कि आजादी सबका हक है और पंचेंन लामा को सार्वजनिक तौर पर प्रवचन करने का अधिकार प्रदान किया जाना चाहिए । उन्होंने कहा कि बड़े दुख की बात है कि आज पूरे विश्व भर में विभिन्न सामाजिक संगठनों मानवाधिकार आयोग व यूएनओ के पास गुहार लगाने के बावजूद उनकी मदद नहीं की जा रही है।

By admin

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *