विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी को पंजाब से जोड़ने वाला मुख्य मार्ग बनकर होगा तैयार !

bilaspur

बिलासपुर (रंजू जमवाल रिपोर्ट)

विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी को पंजाब से जोड़ने वाला मुख्य मार्ग कोला वाला टोबा -श्री नैना देवी विश्व बैंक सड़क निर्माण के मापदंडों के अनुसार बनकर तैयार होगा जिस पर लगभग डेढ़ सौ करोड रुपए खर्च होने का अनुमान है

यह मुख्य मार्ग सड़क सुधार योजना के तहत बनेगा और विश्व स्तरीय सड़क बन कर तैयार होगी हिमाचल प्रदेश के शक्तिपीठों पर बनने वाली हिमाचल की पहली सड़क होगी

जिसमें मुख्य रुप से सिंहद्वार स्वागत द्वार, प्राकृतिक जल स्त्रोतों का जीर्णोद्धार, सड़क किनारे छायादार पेड़, सड़क पर मूलभूत सुविधाएं लाइटनिंग, पैदल श्रद्धालुओं के लिए फुटब्रिज, भूस्खलन की रोकथाम के लिए बायोइंजीनियरिंग से भूमि कटाव की रोकथाम, भव्य बस स्टॉपेज,शामिल हैं

जिससे श्री नैना देवी आने वाले लाखों श्रद्धालु एवं पर्यटक लाभान्वित होंगे
इसके अलावा जहां से हिमाचल सीमा शुरू होती है वहां पर एक भव्य स्वागत द्वार सिंह द्वार का निर्माण होगा जिसमें बूम ट्रैफिक कंट्रोल और केबिन भी बनेगा

इसमें विश्व स्तरीय सड़क निर्माण किया जाएगा इस सड़क के निर्माण को लेकर

एक टीम चीफ इंजीनियर प्रोजेक्ट डायरेक्टर प्रदेश सड़क संरचना विकास निगम शिमला पवन शर्मा के नेतृत्व में श्री नैना देवी पहुंची

उन्होंने इस पूरी सड़क का कोला वाला टोबा तक निरीक्षण किया इस मौके पर मंदिर न्यास के सहायक अभियंता प्रेम शर्मा ने इस टीम का श्री नैना देवी पहुंचने पर मंदिर न्यास की तरफ से स्वागत किया

चीफ इंजीनियर पवन शर्मा ने बताया कि विश्व सड़क सुधार योजना के तहत एच पी आर आई डी सी के तहत वर्ल्ड बैंक से इस सड़क का भव्य निर्माण होगा और श्रद्धालु और पर्यटकों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाएगा

उन्होंने कहा कि इस सड़क पर हर तरह की मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाएगी सड़क के किनारे जहां पर छायादार वृक्ष लगेंगे वहीं पर प्राकृतिक जल स्त्रोतों का जीर्णोद्धार किया जाएगा

उन्होंने कहा कि भूमि कटाव को रोकने के लिए सड़क के दोनों तरफ बायोइंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी के भूमि कटाव की रोकथाम की जाएगी

इसके अलावा ओवर ब्रिज का निर्माण इस सड़क पर लाइटनिंग के अलावा श्रद्धालुओं के लिए पैदल रास्ते का निर्माण भी किया जाएगा पवन शर्मा ने कहा कि माता श्री नैना देवी के दरबार में आने वाले श्रद्धालु जब इस रास्ते से गुजरेंगे तो उन्हें सुख की अनुभूति महसूस होगी

उन्होंने कहा कि इस सड़क का निर्माण विश्व बैंक के मापदंडों के अनुसार होगा

इसके अलावा जो श्रद्धालु पेट के बल दंडवत करते हुए माता के दरबार में आते हैं उनके सुविधा का भी खास ध्यान रखा जाएगा उनके लिए पैदल पथ का निर्माण होगा फुट ब्रिज बनाया जाएगा जिसे पूरी तरह से कवर किया जाएगा ताकि सर्दी बरसात या गर्मी के मौसम में श्रद्धालुओं को दिक्कत ना हो

उन्होंने कहा कि फुट ब्रिज के माध्यम से रेलवे स्टेशन के साथ भी इस रास्ते को जोड़ा जाएगा और यहां पर हर तरह की मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी

इस सड़क के निर्माण से स्थानीय लोगों को भी प्रत्यक्ष और परोक्ष तौर पर लाभ प्राप्त होगा उन्होंने कहा कि इस सड़क के निर्माण के समय जितने भी समीपवर्ती गांव है उनके जो गरीब परिवार है विधवा महिलाएं हैं ठेकेदार कोई निर्देश दिए जाएंगे कि वह उन्हें भी इसके काम में शामिल करें ताकि उन्हें रोजगार के साधन मिल सके

जबकि जहां जहां पर भी गांव पड़ते हैं वहां पर इस रास्ते पर भव्य बस स्टॉपेज का भी निर्माण किया जाएगा एक बढ़िया बस स्टॉपेज बनकर तैयार होगा इसके अलावा जो भी ग्रामीण रस्ते इस योजना के तहत प्रभावित होंगे उनका भी बढ़िया तरीके से निर्माण किया जाएगा

श्री नैना देवी संपर्क मार्ग पर भी जो तंग मोड़ है उन्हें चौड़ा किया जाएगा और सर्कुलर रोड का भी जीर्णोद्धार किया जाएगा ताकि श्रद्धालु आसानी से मंदिर तक पहुंच सके उन्होंने कहा इस सड़क पर भी रैंप लगाकर लाइटनिंग लगाकर इसे सुंदरीकरण भी इसका किया जाएगा
जबकि इस रास्ते पर फॉरेस्ट की जमीन है या प्राइवेट जमीन है फोरेस्ट क्ललीयरेंस भी ली जाएगी और प्राइवेट जमीन वालों को उचित मुआवजा प्रदान किया जाएगा उन्होंने कहा कि इसके बारे में उन्होंने एसडीएम मंदिर न्यास के अध्यक्ष सुभाष गौतम से भी परिचर्चा की है और मंदिर न्यास के सहायक अभियंता प्रेम शर्मा को भी निर्देश दिया है कि वह इस सड़क का रेवन्यू रेकॉर्ड पूरा विभाग को भेजें ताकि जल्द से जल्द इस पर कार्य शुरू हो उन्होंने कहा कि विश्व बैंक की सहायता से सरकार की अनुमति से इसका निर्माण शीघ्र हो इसके लिए पूरी तरह से प्रयासरत है और जल्द ही इसका प्रारूप तैयार किया जाएगा ताकि जल्द इसके टेंडर आमंत्रित किए जा सके।

 

Leave a Reply