प्रशिक्षित बेरोजगार शारीरिक शिक्षा शिक्षक (पीईटी) संघ ने सीएम को सौंपा अपनी मांगों का ज्ञापन पत्र 

himachal

अनवर हुसैन। नालागढ़
प्रशिक्षित बेरोजगार शारीरिक शिक्षक( पीईटी) संघ सोलन का एक प्रतिनिधिमंडल संघ के अध्यक्ष यतेंद्र पाल की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से उनके आज एकदिवसीय बद्दी के दौरे के दौरान बद्दी में मिला। इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल ने अपनी मांगों का ज्ञापन पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा जिस पर मुख्यमंत्री ने शीघ्र ही इस पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया और शारीरिक शिक्षकों (पी ई टी) के पदों को भरने के बारे में, संघ के प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया। वैसे वर्तमान हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा 7 अक्टूबर 2018 को शारीरिक शिक्षा शिक्षकों पीईटी के 2000 पद भरने की घोषणा की थी परंतु इस घोषणा पर आज तक यानी 3 साल बीत जाने पर भी कोई अमल में नहीं लाई गई है और यह केवल एक मात्र घोषणा बनकर रह गई है। इससे शारीरिक शिक्षक अपने को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। वर्तमान सरकार ने शिक्षा विभाग में बाकी सब पदों को समय-समय पर भरे हैं लेकिन पीईटी शिक्षकों का एक पद पद भी उस घोषणा के बाद नहीं भरा है lयह बहुत ही दुख और खेद का विषय है इससे पहले भी हिमाचल प्रदेश राज्य स्तर पर भी बेरोजगार प्रशिक्षित शारीरिक शिक्षा संघ के सदस्य माननीय मुख्यमंत्री जी से कई बार मिल चुके हैं परंतु उन्हें अभी तक मात्र आश्वासन ही मिले हैं व्यवहार में एक भी पद नहीं भरा है ना बैच वाइज ना कमीशन से भरा गया है।नआज प्रदेश में हजारों शारीरिक शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं ऐसे परिवेश में केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री जी की खेलो भारत मुहिम एवं फिट इंडिया मुहिम को कैसे व्यवहारिक अमलीजामा पहनाया जाएगा, जब इस तरह से शारीरिक शिक्षा एवं शारीरिक शिक्षकों की अवहेलना एवं उपेक्षा निरंतर प्रदेश में होती रहेगी।नसाथ ही स्कूलों में विद्यार्थियों का बहुआयामी व्यक्तित्व का विकास बिना शारीरिक शिक्षा एवं शारीरिक शिक्षकों से कैसे संभव होगा यह बात सभी के समझ से परे हैं। प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन पत्र के माध्यम से डीपीइ के पदों को भी जो 2000 के बाद नहीं भरे हैं को भरने की भरपूर मांग की। इसी के साथ प्रतिनिधिमंडल ने योगा शिक्षकों की भर्ती में बेरोजगार शारीरिक शिक्षकों को को प्राथमिकता देने की बात भी मुख्यमंत्री से रखी जिस पर उन्होंने सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आश्वासन संघ को दिया।

Leave a Reply