कांग्रेस विधायकों के साथ हाथापाई फिर मामला दर्ज करवाना लोकतंत्र की हत्या: रजनीश मेहता

himachal

रंजु जम्वाल। बिलासपुर

विधानसभा सत्र में राज्यपाल अभिभाषण के साथ ही हुए हंगामे के बीच कांग्रेसी विधायकों के साथ हाथापाई और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री सहित 4 कांग्रेसी विधायकों को सत्र के लिए निलंबित किए जाने और देर रात नेता प्रतिपक्ष और चार विधायकों पर एफ आई आर दर्ज किए जाने पर प्रदेश युवा कांग्रेस महासचिव एवं जिला उना प्रभारी रजनीश मेहता ने लोकतंत्र की हत्या करार दिया है।

मेहता ने कहा कि भाजपा सरकार है लोकतंत्र की परिभाषा बदल रही है और जनप्रतिनिधियों से भी बोलने का हक छीना जा रहा है उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष को अगर कार्रवाई करनी थी तो विधानसभा उपाध्यक्ष हंसराज के विरुद्ध क्यों नहीं हुई जिन्होंने सदन में धक्का-मुक्की शुरू कि अगर सरकार का यही व्यवहार रहा तो युवा कांग्रेस पूरे प्रदेश में उग्र धरने प्रदर्शन को विवश होगी।

प्रदेश महासचिव रजनीश मेहता ने कहा कि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि जहां जहां भाजपा की सरकारें हैं वहां वहां लोकतंत्र के लिए अब कोई जगह नहीं रही है अगर नेता प्रतिपक्ष को बोलने नहीं दिया जा रहा और उनके साथ धका मुक्की की जा रही है तो इससे शर्मनाक और कुछ नहीं हो सकता है।

अगर सरकार इस तरह की धक्का शाही करना चाहती है तो युवा कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी और पूरे प्रदेश के सभी जिला में उग्र प्रदर्शन कर विरोध किया जाएगा और अगर जरूरत पड़ी तो युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की अध्यक्षता में विधानसभा घेराव भी किया जाएगा।

मेहता ने कहा कि अगर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और अन्य विधायकों पर दर्ज की गई एफआईआर को वापिस ना लिया गया व विधानसभा उपाध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही नहीं की गई तो युवा कांग्रेस सड़कों पर उतर कर उग्र प्रदर्शन हुआ विरोध करेगी।

Leave a Reply