हिमाचल पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के तत्वाधान में 15 दिनों का प्रारम्भिक प्रशिक्षण शिविर शुरु

himachal

रंजु जम्वाल। बिलासपुर

बिलासपुर के लुहनू मैदान में हिमाचल पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के तत्वाधान में बिलासपुर इकाई द्वारा 15 दिनों का प्रारम्भिक प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत की गई है। वहीं बिलासपुर सदर से विधायक सुभाष ठाकुर ने इस प्रशिक्षण शिविर की शुरुआत करते हुए जिले के 10 प्रशिक्षुओं को अपनी शुभकामनाएं दी है। गौरतलब है कि इन प्रशिक्षुओं को इंग्लैंड के ब्रिटिश एंगलेंडिंग पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के सिलेबस के आधार पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिसमें मुख्यरूप से पहले 05 दिन ग्राउंड ट्रेनिंग व स्मॉल हॉप्स का प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिसके बाद 200 फिट तक छोटी फ्लाइट्स करवाने के बाद उन्हें क्लब पायलट का प्रशिक्षण दिया जाएगा। पैराग्लाइडिंग फ्लाइट्स की बेसिक जानकारी मिलने के बाद इन प्रशिक्षुओं को माउंटेनिंग इंस्टीटयूट मनाली व बीड़बिलिंग भी प्रशिक्षण के लिए ले जाया जाएगा ताकि पैराग्लाइडिंग से सम्बंधित सभी बारीकियां इन्हें सीखने को मिले। इस बात की जानकारी देते हुए राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना चुके पैराग्लाइडर इंस्ट्रक्टर विशाल जसल ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि बिलासपुर का मौसम पैराग्लाइडिंग के लिए अनुकूल रहेगा और नए प्रशिक्षुओं को इस एडवेंचर स्पोर्टस में आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। वहीं बिलासपुर सदर से विधायक सुभाष ठाकुर ने कहा कि पर्यटन व रोजगार को बढ़ावा देने के नजरिये से पैराग्लाइडिंग एक बेहतरीन अवसर है जिसमें युवा आगे आकर ना केवल एडवेंचर स्पोर्ट्स का लुत्फ ले सकते है, बल्कि हिमाचल में रहकर की अच्छी खासी आमदनी कमा सकते है।जिसकी शुरुआत आज से कर दी गयी है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे देश मे केवल बिलासपुर ही एकमात्र ऐसी जगह है जहां बंदला की ऊंची धार, गोविंद सागर झील व लुहनू मैदान की सुविधा के चलते एक्रोवेटिंग पैराग्लाइडिंग की जा सकती है। जबकि बीडबिलिंग में यह सम्भव नहीं है और वहां क्रॉसकंट्री पैराग्लाइडिंग ही होती है।

Leave a Reply