मां सरस्वती की प्रतिमा को अंतिम रूप देने में जुटे कलाकार, मूर्ति की बिक्री कम होने से हैं परेशान

Uncategorized

सत्यपाल सिंह। भागलपुर

16 फरवरी को विद्या की देवी की प्रतिमा स्थापित कर पूजा की जाएगी ,जिसको लेकर मूर्तिकार मूर्तियों को अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं, भागलपुर के अलीगंज के ऊपर गंगटी के मूर्तिकार गुरुदेव पंडित का पूरा परिवार हिंदी नो मूर्तियों के साज-सज्जा और अंतिम रूप देने में जुटा हुआ है ,लेकिन सरस्वती पूजा को लेकर जो मूर्ति बनाने वाले कलाकार हैं, वे खासे मायूस हैं, मूर्ति कलाकार जो लगातार प्रतिमान निर्माण करने में जुटे हुए हैं लेकिन इन्हें उम्मीद नहीं है कि इनका जो खर्च है वह भी निकल पाएगा, मूर्तिकार गुरुदेव पंडित और उनके परिवार के लोगों ने बताया कि इसके पहले हर साल मूर्तियों की एडवांस बिक्री हो जाती थी,अच्छे खरीदार मिल जाते थे, लेकिन इस बार कुछ मूर्तियां ही बिकी हैं, कोरोना काल और लॉक डाउन को लेकर और अभी परीक्षा का समय है, जिसकी वजह से स्कूल कॉलेज बंद है,जिसकी वजह मूर्तियों की डिमांड काफी कम हुई है, वही दूसरी ओर दूसरे राज्यों राजस्थान से आए हुए मूर्तिकार अवैध लाल राठौर जीबी मूर्ति बनाने के बाद बिक्री नहीं होने से निराश हैं और उनका भी यही कहना है अगर किसी तरह से हम लोगों की जो मूर्तियां बनाई हैं वह सारी बिक्री हो जाती है तो हम लोग का खाने कमाने का कुछ पैसे निकल जाएंगे हर वर्ष की भांति इस वर्ष काफी कम संख्या में मूर्ति की बिक्री हुई है और इसका उनके व्यवसाय पर भी असर पड़ा है।

Leave a Reply