HRTC परिचालकों ने किया क्रमिक अनशन का ऐलान, 22 जुलाई से उग्र आंदोलन शुरू करने की चेतावनी

himachal shimla

शिमला: नूपुर वर्मा

अधिकारियों की ओर से मांगों वार्ता के लिए ना बुलाने पर एचआरटीसी परिचालक मुखर हो गए हैं। परिचालकों ने 13 जुलाई से क्रमिक अनशन शुरू करने का ऐलान कर दिया है।

मंगलवार को शिमला में एचआरटीसी कंडक्टर यूनियन द्वारा गेट मीटिंग कर ओल्ड बस स्टैंड में रैली निकाली गई। साथ ही 22 जुलाई तक क्रमिक अनशन पर जाने का फैसला लिया गया। इस दौरान एचआरटीसी परिचालकों ने कहा कि यदि सरकार  वार्ता के लिए नहीं बुलाती है, तो 22 जुलाई के बाद प्रदेश में उग्र आंदोलन शुरू करने को लेकर बैठक में फैसला लिया जाएगा। कंडक्टर यूनियन ने सरकार को 12 जुलाई तक का समय वार्ता करने का  सरकार को दिया है। सरकार की ओर से यूनियन के साथ कोई भी वार्ता नहीं की गई।

यूनियन के प्रांतीय प्रधान किशन चंद ने कहा कि छठे वेतन आयोग की अधिसूचना जारी होने से परिचालकों को नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। अधिसूचना होने से पहले उन्हें 2 हजार 400 रुपये ग्रेड पे मिलता था। जो अब घटकर 1 हजार 900 रुपये हो गया है। इसके अलावा परिचालकों की ओर से वेतन विसंगतियों को दूर करने की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा कि उन्होंने सरकार को 12 जुलाई तक का समय दिया था। सरकार की ओर से वार्ता को लेकर कोई भी पहल नहीं की जा रही है। इसके चलते आज दोबारा से गेट मीटिंग की गई और 13 जुलाई से चारों मंडलों पर क्रमिक अनशन शुरू करने का फैसला किया गया है। उन्होंने बताया कि हर रोज गेट मीटिंग भी आयोजित की जाएगी। यदि 22 जुलाई तक के सरकार वार्ता के लिए नहीं बुलाती है, तो उसके बाद आगे के आंदोलन की रूपरेखा भी तैयार की जाएगी।

Leave a Reply