डबल इंजन सरकार कर रही है युवाओ से खिलबाड़– बम्बर ठाकुर

bilaspur himachal

— बिलासपुर

बिलासपुर जिले के घुमारवीं क्षेत्र के तहत आने बाली कुठेड़ा पंचायत में कुठेड़ा बाजार से कुठेड़ा स्कूल तक पूर्व में सदर विधायक रहे बंबर ठाकुर और सैंकड़ो कार्यकर्ताओ ने तानाशाही भाजपा सरकार की गलत नीतियों के विरोध में कैंडल जलूस निकाल कर तथा भाजपा विरोधी नारे लगा कर पूरे बाजार में गर्मजोशी से भाजपा की केन्द्र सरकार का विरोध किया।

इस दौरान पूर्व विधायक बम्बर ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार की युवा विरोधी अग्निपथ योजना देश के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है. देश में इस योजना से फैले आक्रोश में 66 युवाओं की मौत होना सरकार के लिए कोई अच्छे संकेत नहीं हैं. इससे पहले की नुकसान ज्यादा हो सरकार को इस योजना पर अंकुश लगाकर वापिस ले लेना चाहिए।सरकार यदि इस योजना को वापस नहीं लेती है तो प्रदेश कांग्रेस खंड स्तर से लेकर प्रदेश स्तर तक हर प्लेटफार्म पर इसका विरोध करेगी. जिसकी सारी जिम्मेदारी केंद्र व प्रदेश सरकार की होगी. ।

बंबर ठाकुर ने कहा कि यह शर्म की बात है कि पूरे देश के युवा इस अग्निपथ योजना का सड़कों पर उतर कर विरोध कर रहे हैं और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री इस योजनाओं को युवाओं के भविष्य को लेकर स्वर्णिम अवसर बता रहे हैं. उन्होंने कहा कि जिस प्रकार केंद्र सरकार की किसान बिल को लेकर फजीहत हुई है. उसी प्रकार यह अग्निपथ योजना भी सरकार के गले की फांस बनने वाली है।

चार साल नौकरी करवाने के बाद 75 प्रतिशत युवाओं को घर का रास्ता दिखा दिया जाएगा, उनके हाथ में न पेंशन, न कोई पद और न ही भविष्य की कोई रणनीति होगी. मतलब जो समय युवाओं को करियर बनाने का है उसमें सरकार उन्हें निठठला कर घर भेज देगी.यही नहीं सरकार से मिलने वाली कैंटीन व पेंशन सुविधा से यह वर्ग वंचित हो जाएगा।

बंबर ठाकुर ने कहा कि बिलासपुर ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश में बच्चे सेना का सपना संजोए हुए दिन रात मेहनत कर रहे हैं. लेकिन सरकार ने इस योजना को लाकर इस सपनों को धूमिल कर दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार अपनी स्किन बचाने के लिए इस आंदोलन को कांग्रेस की देन बता रहे हैं लेकिन सरकार को अपने ईमानदार गुप्चरों को तलब करके सच्चाई जाननी चाहिए, यह आंदोलन युवा स्वयं कर रहे हैं.
उन्होंने कहा कि सरकार तुगलकी निर्णय लेकर हमेशा बैकफुट पर आती है और अपनी किरकिरी करवाती है. ।

इस प्रकार की योजना सैनिकों और पूर्व सैनिकों का अपमान है. उन्होंने कहा कि चार साल नौकरी करने के बाद युवा क्या चाय बेचेंगे या फिर पकौड़े तलेंगे. इस युवा विरोधी योजना का समर्थन करने वाले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।

बंबर ठाकुर ने कहा कि अहंकार में डूबी यह सरकार इतनी तानाशाह हो चुकी है कि यदि कोई सरकार से प्रश्न भी करता है तो उसके पीछे भी सरकार ईडी लगा देती है ताकि जनता वास्तविक मसले से भटक जाए.।

Leave a Reply