पिछले 4 वर्षों में इस विधानसभा क्षेत्र में धरातल पर कोई भी कार्य नहीं-कांग्रेस कमेटी के सचिव तथा युवा कांग्रेस हिमाचल प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष विवेक कुमार

bilaspur

बिलासपुर

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव तथा युवा कांग्रेस हिमाचल प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष विवेक कुमार ने झंडुत्ता विधानसभा क्षेत्र के विधायक को आड़े हाथों लेते हुए आरोप लगाया है कि पिछले 4 वर्षों में इस विधानसभा क्षेत्र में धरातल पर कोई भी कार्य नहीं हो रहे । उन्होंने बरठी में खुलने वाले अटल आदर्श विद्यालय की चर्चा करते हुए कहा कि 3 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर तथा विधायक जीत राम कटवाल ने इस स्कूल का शुभारंभ कर दिया था। जो कि उस समय लगाई गई पट्टिका पर अंकित है। उन्होंने हैरानी जताई कि ना तो इसका शिलान्यास हुआ और ना ही उसका उद्घाटन सीधा शुभारंभ कर दिया गया। लेकिन हैरानी की बात यह है कि 4 वर्ष बीत जाने पर भी स्कूल आरंभ नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि विधायक अटल आदर्श विद्यालय स्कूल के बारे में विधायक 26 मई तक कोई स्पष्टीकरण नहीं देते हैं तो कांग्रेस पार्टी लोगों के साथ मिलकर धरना प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि विधायक इस बारे में स्पष्टीकरण दें कि स्कूल है भी या नहीं। अगर शुभारंभ हो गया है तो कितनी एडमिशन हुई। उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ते समय विधायक ने कहा था कि झंडूता विधानसभा क्षेत्र का कायाकल्प कर देंगे । लेकिन अभी तक कई वादे हवा में लटके हैं। उन्होंने कहा था कि इस विधानसभा क्षेत्र के महत्वपूर्ण शहर बरठीं में रेन शेल्टर और शौचालय का निर्माण भी किया जाएगा और यह भी कहा था कि पूर्व विधायक स्वर्गीय रिखी राम कौंडल व बीरू किशोर इस मामले में कुछ नहीं कर पाए। विवेक ने बताया कि इस का शिलान्यास भी 15 अगस्त 2021 को किया गया था । अब 1 वर्ष होने को आया लेकिन अभी तक इस में एक ईंट भी नहीं लगी है। उन्होंने बताया कि बरठीं बाजार 25 पंचायतों का व्यापारिक केंद्र है लेकिन इसमें भी व्यापारियों को परेशानी पैदा कर दी गई है। उन्होंने कहा कि अपने चहेते ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने के लिए बरठीं बाजार की सड़क में डिवाइडर लगा दिए गए हैं। जिस से ना केवल ट्रैफिक जाम हो रहा है बल्कि पार्किंग की भी समस्या पैदा हो गई है और दुकानों पर उसका असर पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि इस संदर्भ में व्यापारी भी एसडीएम से मिले थे लेकिन कोई समस्या हल नहीं हो पाई। बाकी जहां तक बबखाल पूर्व की बात है उसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह बधाई के पात्र हैं जिन्होंने इसे शुरू करवाया और इसके लिए बजट का प्रावधान किया था। वर्तमान विधायक ने तो एक पैसा भी इस पुल के लिए स्वीकृत नहीं करवाया। उन्होंने कहा कि इसी क्षेत्र की पंचायत सलवाड के प्रधान कांशी राम ने एक पीआईएल हाई कोर्ट में डाली थी जिसके ऊपर हाई कोर्ट ने सरकार को पुल बनाने के निर्देश दिए थे। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र की सड़कों की बुरी हालत है और जहां से फोरलेन का निर्माण किया जा रहा है वहां पर गांव के रास्ते और छोटी सड़कें बंद हो गई है। इनके लिए कोई प्रावधान नहीं किया गया लोगों को धूल और मिट्टी खानी पड़ रही है। इस अवसर पर कांग्रेस पार्टी के जिला महासचिव राजकुमार कौशल और सुशील गौतम, ब्लॉक अध्यक्ष कुलदीप शर्मा तथा सोहन सिंह ठाकुर भी उपस्थित थे।

Leave a Reply