हर घर और खेत तक पानी पहुंचाना मुख्य लक्ष्य : राकेश पठानिया कहा….किसानों-बागवानों की आर्थिक समृद्वि सरकार की उच्च प्राथमिकता

kangra

 

 

नूरपुर(भूषण शर्मा)

 

वन, युवा सेवाएं एवम खेल मंत्री राकेश पठानिया ने कहा है कि हर घर को नल से जल और खेत तक पानी पहुंचाना उनकी प्राथमिकता है। यह उदगार उन्होंने आज रविवार को नूरपुर विधानसभा क्षेत्र की खेल पंचायत के चरनाली गांव में 39 लाख रुपए की लागत से बनाए गए चेक डैम तथा सौर सिंचाई योजना, 10 लाख रुपए से बनाये गए सम्पर्क मार्ग की सौगात जनता को देते हुए व्यक्त किए। उन्होंने इसके बाद सम्मा गांव में साढ़े सात लाख रुपए से निर्मित सम्मा से डूग तथा मट्ट गांव में 6 लाख रुपए की लागत के संपर्क मार्ग का भी स्थानीय लोगों को तोहफा दिया।

इससे पहले, उन्होंने सुल्याली पंचायत के रलेह गांव में 9 लाख 30 हज़ार रुपए से बनने वाले 25 हज़ार क्षमता के ओवरहेड पेयजल टैंक का भी भूमि पूजन किया।

उन्होंने बताया कि चरनाली में चेक डैम के बनने से इस पंचायत के 20 किसानों-बागवानों की साढ़े 12 हेक्टेयर भूमि को सारा साल सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। जबकि संपर्क मार्ग के बनने से तीस परिवारों को लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र में कृषि, वन, ग्रामीण विकास तथा अन्य विभागों द्वारा पंचायतों में चेक डैम का निर्माण किया जा रहा है। जिन पर लगभग 90 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है।

उन्होंने कहा कि चेक डैम निर्माण से जल संरक्षण के साथ-साथ लोगों को सारा साल सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। इसके अतिरिक्त कृषि, बागवानी योग्य भूमि व उत्पादन में बढ़ोतरी, हरित क्षेत्र में बढ़ोतरी व पशुओं को हरा चारा, मत्स्य पालन, पर्यावरण सरंक्षण के अलावा किसानों-बागवानों की आय में भी वृद्धि होगी।

वन मंत्री ने फिन्ना सिंह मध्यम सिंचाई परियोजना पर बोलते हुए कहा कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। इस नहर के बनने से क्षेत्र में जहां खुशहाली व आर्थिक समृद्धि आएगी वहीं आने वाली पीढ़ियां भी इस परियोजना को याद रखेंगी।

वन मंत्री ने अपने जनसंवाद कार्यक्रम के तहत आज खेल पंचायत के सम्मा, खेल तथा मट्ट में भी लोगों की समस्याओं का सुना तथा क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों का जायजा लिया।

उन्होंने नदियों में घटते जल स्तर पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि हमें अपने बेहतर सुनहरे कल के लिये जल का सरंक्षण, संवर्धन और उसका दक्ष प्रबंधन करना जरूरी है। उन्होंने लोगों से कहा कि पानी के सरंक्षण के प्रति सजग और संवेदनशील बनना बेहद जरूरी है। जिसके लिए न केवल हमें अपनी सोच में परिवर्तन लाना जरूरी है, बल्कि जल संचय के प्रति मिलजुल कर सामूहिक प्रयास करने होंगे।

वन मंत्री ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र का समग्र व संतुलित विकास उनकी पहली प्राथमिकता है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र में सड़कों, पुलों तथा पेयजल योजनाओं के अतिरिक्त नई बिजली की लाइनें बिछाने, पुरानी लाइनों की मरम्मत व सुधार, वोल्टेज की समस्या वाले क्षेत्रों में नए ट्रांसफार्मर लगाने पर करोड़ों रुपए के कार्य जारी हैं।

 

तहसीलदार सुरभि नेगी, डीएफओ सुमन ओहरी,कृषि विभाग के उपनिदेशक डॉ राहुल कटोच,उपमंडलीय भू- सरंक्षण अधिकारी डॉ शैलेश पॉल सूद, कृषक विकास संघ के प्रधान बलवान चंद, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता जेएस राणा,जलशक्ति विभाग के अधिशासी अभियंता अमित डोगरा, एसडीओ देवेंद्र राणा, बिजली विभाग के एसडीओ शंकर दयाल,भाजपा एससी मोर्चा महामंत्री कमलेश कुमारी, ग्राम पंचायत सुल्याली के प्रधान सुनील कुमार(बबलू), बार्ड सदस्य देसराज, कुलदीप, खेल पंचायत के उपप्रधान बलवान सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी व स्थानीय लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply