धर्मशाला से विधायक विशाल नेहरियां फिर सुर्खियों में पत्नी HAS ओशिन शर्मा ने कहा विशाल अभी भी करते है प्रताड़ित

bilaspur Dharamshala himachal

आज का समाचार के लिए बिलासपुर से रंजू जमवाल की रिपोर्ट

बिलासपुर में हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा की प्रोेवेशनरी अधिकारी ओशिन शर्मा ने अपने पति धर्मशाला विधानसभा चुनाव क्षेत्र के विधायक विशाल नेरिया व उनके परिवार के सदस्यों पर लगाए प्रताडित करने व घरेलू हिंसाके संगीन आरोप उन्होंने मीडिया को सम्बोधित करते हुए कहा-
एक तरफ सरकार बेटी बचाओ बेटी पढाओ का दे रही है नारा तो दूसरी ओर बेटियां घरेलू हिंसा की शिकार हो रही हैं शिकार वह भी उन बेटियों मेें से है एक जो अपने पति व उनके परिवार के सदस्यों द्धारा प्रताडित व घरेलू हिंसा से है पीडित घरेलू हिंसा की शिकार प्रशासनिक अधिकारी ओशिन शर्मा ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से किया आग्रह धर्मशाला में सत्ता के दुरूपयोग को रोकने के प्रति उठाए जाएं उचित कदम ।

-हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा की प्रोेवेशनरी अधिकारी ओशिन शर्मा ने कहा कि एक तरफ सरकार बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा दे रही है तो दूसरी ओर बेटियां घरूले हिंसा की शिकार हो रही है। वह भी उन बेटियों मेें से एक है। जो अपने पति व उनके परिवार के सदस्यों द्धारा प्रताडित व घरेलू हिंसा से पीडित है। उसके पति व धर्मशाला के वर्तमान विधायक विशाल नेहरिया द्वारा उसे अभी दिमागी तौर पर मानसिक रूप से परेशान किया जा रहा है। जिस तरह से उनके पति को पूरे स्वाभिमान के साथ जीने का अधिकार है। वैसे ही अधिकार उन्हें भी है। लेकिन उन्हें फिर भी परेशान करने से बाज नहीं आ रहे है। जिससे वह दायित्व सही तरीके से नहीं निभा नहीं पा रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मांग करते हुए कहा कि धर्मशाला में सता के दुरूपयोग को रोका जाए। जो जनता के सामने कुछ है और पीठ पीछे कुछ है। उन्होंने बिलासपुर में पत्रकारों से इस मुददे पर भावुक होते हुए कहा कि 26 अप्रैल 2021 में उनका विवाह धर्मशाला के विधायक के साथ हुआ था। उसके बाद उनके साथ अत्याचार शुरू हो गए थे। उन्होंने कुछ समय तक तो सहन किया । जब विरोध किया तो गत वर्ष जून माह में उनके साथ उनके पति व परिवार के सदस्यों द्धारा न केवल उन्हें मानसिक रूप से परेशान किया गया था बल्कि मारपीट भी की गई थी। उसके बाद उन पर पुलिस मेे की गई एफआईआर वापिस लेने का दवाब डाला गया। उन्होंने इसलिए एफआईआर वापिस ली थी। क्योंकि उन्हें उनके पति ने दस वर्ष तक तलाक नही देने की बात कही थी। हालांकि यह मामला अभी न्यायालय में लंबित है। फिर भी उनके पति द्धारा परेशान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर उनके पति द्धारा मीडिया में जो बयान दिया गया था। उस पर बाद में मुकर गए थे। जिससे उनका सफेद झूठ पकडा गया था। उन्होंने कहा कि जब वह जोगेंद्रनगर व हमीरपुर मेें प्रोवशनरी पीरियड पर कार्यरत थी। तो भी उनके पति द्धारा वहां पर परेशान करने करने का प्रयास किया गया। यहीं नहीं हिप्पा में प्रशासनिक अधिकारी के प्रशिक्षण के दौरान भी उन्हंे बेवजह तंग किया गया। जिस कारण उन्हें शिमला के ढली थाने में शिकायत दर्ज करवानी पडी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके पति उनके खिलाफ सता का दूरपयेाग कर सकते है। वह इस संबंध में लोगो को जागरूक कर सच्चाई सामने रखना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि सही जागरकता की कमी के कारण आज समाज मेें कितनी महिलाएं व बेटियां घरेलू हिंसा की शिकार हो जाती हेै। और वह डर के कारण कुछ बोल भी नहीं पाती है। उनके साथ जब यह घटना हुई थी, तब उन्हें समाज का समर्थन मिला था। उन्हें उम्मीद है कि अब भी लोग उनका साथ देंगे। क्योंकि हम सभी को स्वाभिमान के साथ जीवन जीने का अधिकार है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मांग करते हुए कहा कि धर्मशाला में सत्ता के दुरूपयोग को रोकने के लिए उचित कदम उठाने की मांग की है।

Leave a Reply