कृषि व बागवानी क्षेत्र प्रदेश सरकार की आर्थिकी की रीढ़ः वीरेन्द्र कंवर

himachal

आज का समाचार के लिए ब्यूरो अनवर हुसैन की रिपोर्ट
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, कृषि, पशुपालन तथा मत्स्य मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि कृषि एवं बागवानी क्षेत्र प्रदेश की आर्थिकी की रीढ़ है तथा इसे सुदृढ़ करने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। वीरेन्द्र कंवर आज सोलन जिला के परवाणू में 02.50 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित प्रदेश की प्रथम पुष्प मण्डी का लोकार्पण करने के उपरान्त उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे।
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने इस अवसर पर टर्मिनल मण्डी परवाणू में स्थित पार्किंग के 82.97 लाख रुपए की लागत से निर्मित होने वाले इंटरलाॅकिंग टाईल्स के कार्य का शिलान्यास भी किया।
वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि राज्य की 90 प्रतिशत आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है तथा 70 प्रतिशत लोग कृषि एवं सम्बद्ध क्षेत्रों से अपनी आजीविका चलाते हैं। राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में कृषि व इससे जुड़े क्षेत्रों का लगभग 13.62 प्रतिशत योगदान है।
उन्होंने कहा कि कृषि विपणन बोर्ड ने कोविड काल में बेहतरीन कार्य किया है। इसके फलस्वरूप प्रदेश के सकल घरेलू उत्पाद में कृषि क्षेत्र का योगदान बढ़कर 2 से साढ़े 3 प्रतिशत हुआ है। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान एपीएमसी व कृषि विपणन बोर्ड के कुशल प्रबन्धन से किसानों के उत्पादों को मण्डियों तक समय पर पहुंचाया गया। उन्होंने कहा कि दिल्ली के बाजार में 25 प्रतिशत पुष्प हिमाचल से जाता है। प्रदेश के बागवान अपने पुष्प परवाणू पुष्प मण्डी में विक्रय कर अच्छा लाभ अर्जित करेंगे। उन्हांेने कहा कि प्रदेश की दूसरी पुष्प मण्डी ऊना जिला में स्थापित की जाएगी। उ

Leave a Reply