मुख्यमंत्री ने मलाणा के प्रत्येक प्रभावित परिवारों को 1.5 लाख रुपये देने की घोषणा की

himachal kullu

कुल्लू से अनवर हुसैन के साथ ब्यूरो रिपोर्ट 

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कुल्लू जिला के प्राचीन गांव मलाणा का दौरा कर इस वर्ष अक्तूबर में आग लगने की घटना से प्रभावित परिवारों से मुलाकात की।

जय राम ठाकुर ने मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत प्रत्येक 36 प्रभावित परिवारों को 1.50 लाख रुपये देने की घोषणा की और इस सम्बन्ध में परिवारों को स्वीकृति पत्र प्रदान किए। उन्होंने मनरेगा के अन्तर्गत प्रत्येक प्रभावित परिवार को 40 हजार रुपये प्रदान करने की घोषणा की। उन्हांेने अग्निकांड की इस घटना में जिन परिवारों के घर पूरी तरह से नष्ट हो गए हैं, प्रत्येक को अपनी ऐच्छिक निधि से 25 हजार रुपये और आंशिक रूप से नष्ट हुए घरों के परिवारों को 10 हजार रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने मलाणा में स्वास्थ्य उप-केन्द्र खोलने की घोषणा करते हुए कहा कि इस संस्थान में शीघ्र ही स्वास्थ्य कर्मी उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने राजकीय उच्च विद्यालय मलाणा को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मेें स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभावित परिवारों को गृह निर्माण के लिए वन निगम द्वारा सात क्यूबिक मीटर टीडी के अतिरिक्त ईंधन की लकड़ी भी उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जिका के अन्तर्गत जरी गांव के लिए सिंचाई और जल जीवन मिशन के अन्तर्गत नल से जल की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

जय राम ठाकुर ने मलाणा के लिए वैकल्पिक मार्ग के निर्माण के लिए एक करोड़ रुपये देने की भी घोषणा की। उन्होंने क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को छः महीनों के भीतर सड़क कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि इससे न केवल क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि गांव का विकास भी सुनिश्चित होगा। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित करने तथा युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति पर गर्व करने के लिए प्रेरित करने का भी आग्रह किया।

मुख्यमंत्री ने माता रेणुका मन्दिर के लिए किचन सेट के लिए दो लाख रुपये और पिन वैली को पार करने के लिए गांव की टेªकर इंद्रा देवी को ऐच्छिक निधि से 25 हजार रुपये देने की भी घोषणा की।

मलाणा गांव के लिए पैदल यात्रा करते हुए मुख्यमंत्री ने पर्यटकों के साथ भी बातचीत की।

उन्होंने कहा कि जमलू देवता परिसर के निकट मैदान का भी समुचित रख-रखाव कर इसे विकसित किया जाएगा क्योंकि इस मैदान में सभी धार्मिक कार्य आयोजित किए जाते हैं।

शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर और बंजार के विधायक सुरेन्द्र शौरी ने भी इस अवसर पर अपने विचार रखे और इस दुर्गम गांव का दौरा करने वाले प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर का आभार व्यक्त किया।

ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

पूर्व सांसद महेश्वर सिंह, जिला भाजपा अध्यक्ष भीम सेन, स्थानीय प्रधान राजू राम, उपायुक्त आशुतोष गर्ग, पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply