खाद्य आपूर्ति मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने सुनी पन्याला, ड़लोह, जुनाला, पपलाह, खुंगन तथा प्लास्ला में लोगों की समस्याएं

bilaspur himachal

घुमारवी बिलासपुर से रंजू जम्वाल की रिपोर्ट 

चोखना मूंडखर सड़क को हमीरपुर से जोड़ने के लिए 5 करोड रुपए की मिली मंजूरी। यह जानकारी खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र के गांव पन्याला, ड़लोह (बल्ह), जुनाला, पपलाह, खुंगन तथा प्लास्ला में लोगों की समस्याएं सुनने के दौरान जनसभा को सम्बोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का लक्ष्य हर गांव को सड़क सुविधा से जोड़ने केे साथ लोगों की बुनियादी सुविधाआंे को सुदृढ़ करना है।
उन्होंने बताया कि वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मूंडखर के अतिरिक्त कमरों के निर्माण के लिए 45 लाख रुपए स्वीकृत करने के साथ इस पाठशाला को 10वीं से 12वीं कक्षा में स्तरोन्नत भी करवाया गया है।
उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत सरकार द्वारा जून 2022 तक हर घर में नल से जल उपलब्ध करवाया जाएगा। सरकार का लक्ष्य है कि कोई भी घर बिना नल के ना रहे और कोई नल बिना पानी के न रहे। जल जीवन मिशन के अंतर्गत 53 करोड़ की राशि से घुमारवीं की पेयजल योजना का काम जोरों से चल रहा है। इस पेयजल योजना में मेहरन तथा लदरौर में पेयजल टैंकों का निर्माण कार्य प्रगति है। इस पेयजल योजना से अनेक पेयजल योजनाओं को पेयजल उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पपलाह क्षेत्र में सात पंचायतों के लिए डैहर से 20 करोड़ रूपये की पेयजल योजना स्वीकृत की गई है जिसका स्टोरेज टैंक छंजियार धार पर बनाया जाएगा जिससे क्षेत्र में पीने के पानी की समस्या को हमेशा के लिए दूर किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि चोखना मूंडखर सड़क को हमीरपुर से जोड़ने के लिए 5 करोड रुपए की स्वीकृति नाबार्ड से मिल चुकी है जिसका काम जल्दी ही शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मूंडखर सड़क की मुरम्मत व टायरिंग के लिए 18 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं जिस पर बरसात खत्म होने के बाद काम आरंभ कर दिया जाएगा। झोर घाट में 68 लाख की लागत से पुल बनाया जाएगा। कपहड़ा से करलोटी वाया सीन बेहल सड़क के लिए एक करोड़ 91 लाख रुपये की डीपीआर बनाकर नाबार्ड को स्वीकृति हेतु भेजी गई है।
प्रदेश सरकार द्वारा 65 से 69 वर्ष की महिलाओं को एक हजार रूपये की सामाजिक सुरक्षा पेंशन बिना किसी आय प्रमाण पत्र के प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए अनेक कदम उठा रही है। आईआरडीपी के परिवारों की बेटियों के लिए मुख्यमंत्री शगुन योजना से 31 हजार रूपये और मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में 51 हजार रूपये प्रदान किए जा रहे हैं। बेटी है अनमोल कार्यक्रम में जन्म से ही बेटियों के नाम जो एफडी पहले 12 हजार रूपये थी उसे अब बढ़ाकर 21 हजार रूपये का कर दिया गया है।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में हिमकेयर योजना के अंतर्गत 181 करोड़ रुपये गरीब लोंगो के ईलाज पर खर्च किये गए ताकि प्रत्येक व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो सके।
उन्होंने पपलाह में युवाओं को क्रिकेट और वाॅलीवाॅल किट वितरित की तथा रेनशेल्टर बनाने तथा महिला मंडल भवन डलोह (बल्ह) के लिए तीन लाख रुपये देने की घोषणा की।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए टीकाकरण की प्रथम डोज का शतप्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के उपलक्ष्य में 6 सितम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी फ्रंट लाईन वर्कर से वर्चुअल माध्यम से सम्वाद करेंगे।
इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष सुरेश ठाकुर, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य नरेंद्र ठाकुर, ग्राम पंचायत प्रधान रेखा, ऊषा शर्मा, खाद्य नागरिक आपूर्ति निरीक्षक अमित कुमार, मीडिया प्रभारी रोहित ठाकुर सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply